पीरपैंती विधानसभा ,                                                                                                                              पीरपैंती विधानसभा को लेकर पीरपैंती भारतीय जनता पार्टी के  जमीनी कार्यकर्ताओं में रोष फुट पड़ा है .  इसको लेकर सोशल मीडिया में बयाँ बाजी तेज हो गई है .चर्चा है की बीजेपी के ही एक नेता को jdu में शामिल कराकर विधानसभा का चुनाव लड़ाया जायेगा . इसी को लेकर दो दिन पहले गोड्डा के संसद निशिकांत दुबे का दौरा डैमेज कण्ट्रोल के रूप में माना जा रहा है . गोड्डा के संसद निशिकांत दुबे का पीरपैंती विधानसभा का  दौरा पीरपैंती विधानसभा में आने वाली राजनितिक भूचाल का मौसमविज्ञानी के तौर पर पूर्वानुमान भी लगाना था और उसको शांत करने का प्रयास भी माना जा रहा है .  भागलपुर लोकसभा सीट बीजेपी के हाथ से जाने के बाद बीजेपी कार्यकर्त्ता पहले से ही  ठगे महसूस कर रहे हैं . भागलपुर विधानसभा के बाद पीरपैंती सीट ही ऐसी सीट हैं जहाँ बीजेपी के कार्यकर्त्ता अपनी राजनितिक सपना साकार होते देख  सकते हैं . पीरपैंती सीट हाथ से निकलने की सुगबुगाहट होते ही पार्टी के जमीनी कार्यकर्ताओं में खलबली मच गई हैं . पार्टी कार्यकर्त्ता किसी भी कीमत पर यह सीट छोड़ने के मूड में नहीं हैं और आर पार की लड़ाई लड़ने के मूड में हैं . अब देखना है की पार्टी कार्यकर्ताओं का मान रखती है या राज्य की सत्ता सुख  के हिसाब से सीट की सौदा तय करती है .

0Shares

Leave a Reply